NINTH DAY - NAVAMI
 
 
 
 
 
 
 
 
अग्नि १८५.१ ( आश्विन् शुक्ल नवमी को गौरी नवमी व्रत, दुर्गा, नवदुर्गा आदि की पूजा ), गरुड १.१३५.१ (वीर नवमी नामक आश्विन शुक्ल नवमी), भविष्य ४.१३८ (आश्विन शुक्ल नवमी को महानवमी व्रत, चामुण्डा पूजा, लोह दैत्य की कथा), स्कन्द ५.३.१८४.१८ (अश्वयुक् शुक्ल नवमी को विधूतपाप तीर्थ में वेद आदि पठन के महत्त्व का कथन), ६.८६.१५ ( आश्विन् शुक्ल नवमी को चन्द्रमा की नक्षत्र रूपी पत्नियों द्वारा सौभाग्य प्राप्ति के लिए चण्डी देवी की पूजा ), ६.११६.५७( आश्विन् शुक्ल नवमी को अम्बा रेवती देवी की पूजा : शेष - पत्नी रेवती द्वारा शाप से मुक्ति पाने के लिए अम्बा देवी की पूजा का वृत्तान्त ), ६.१६४ (आश्विन शुक्ल नवमी को सरस्वती तट पर स्थित दुर्गा देवी की पूजा की फलश्रुति), ६.१६४.४५ ( आश्विन् शुक्ल नवमी को चण्डशर्मा – पत्नी शाकम्भरी द्वारा दुर्गा देवी की पूजा ), ७.१.१०२ (आश्विन शुक्ल नवमी), ७.१.१३३ (अश्वयुज शुक्ल नवमी को महाकाली की पूजा), ७.१.१८२ (आश्विन शुक्ल नवमी को मातृगण की पूजा), लक्ष्मीनारायण १.२७४.२२( आश्विन् शुक्ल नवमी को नवरात्र व्रतान्त में देवियों की पूजा व विसर्जन का निर्देश ),